छिंदवाड़ा : कलेक्टर श्री सुमन की अध्यक्षता में राजस्व अधिकारियों की बैठक संपन्न / CHHINDWARA NEWS

छिंदवाड़ा : कलेक्टर श्री सुमन की अध्यक्षता में राजस्व अधिकारियों की बैठक संपन्न / CHHINDWARA NEWS

छिंदवाड़ा : कलेक्टर श्री सुमन की अध्यक्षता में राजस्व अधिकारियों की बैठक संपन्न / CHHINDWARA NEWS

छिंदवाड़ा । कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन की अध्यक्षता में आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में राजस्व अधिकारियों की बैठक संपन्न हुई। कलेक्टर ने बैठक में उपस्थित राजस्व अधिकारियों के साथ ही अन्य अनुविभाग के राजस्व अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से चर्चा की। बैठक में अतिरिक्त कलेक्टर श्री राजेश बाथम, संयुक्त कलेक्टर श्री दीपक वैद्य, डिप्टी कलेक्टर श्री अजीत तिर्की, राजस्व अनुविभागीय अधिकारी श्री अतुल सिंह, सुश्री मेघा शर्मा व श्री नम:शिवाय अरजरिया, तहसीलदार, नायब तहसीलदार और अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
      बैठक में कलेक्टर श्री सुमन ने निर्देश दिये कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिये ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में घर-घर जाकर स्क्रीनिंग करायें। इसके लिये सर्वे टीम गठित कर उन्हें 31 मई तक फीवर क्लीनिक में प्रशिक्षण दें। यह सर्वे टीम जिले की सभी ग्राम पंचायतों के प्रत्येक ग्राम और सभी नगरों के प्रत्येक वार्ड में जाकर स्क्रीनिंग करेगी। इस सर्वे टीम की मॉनिटरिंग के लिये नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे टीम जिस ग्राम में जायेगी, उस ग्राम में रेड जोन से आने वाले और अन्य राज्यों से सर्वाधिक संख्या में बाहर से आने वाले व्यक्तियों की सबसे पहले प्राथमिकता से स्क्रीनिंग करेगी और उसके बाद ग्राम के अन्य व्यक्तियों की स्क्रीनिंग करेगी। यह कार्य एक या दो दिन में पूर्ण करके उस ग्राम पंचायत के अन्य ग्रामों में स्क्रीनिंग का कार्य करेगी। स्क्रीनिंग के दौरान जिस व्यक्ति का तापमान अधिक हो या जिस व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दें उसे तत्काल फीवर क्लीनिक में भेजा जायेगा और इसे सार्थक एप में भी एंट्री करेगी। फीवर क्लीनिक में व्यक्ति के स्वास्थ्य परीक्षण के बाद व्यक्ति के परीक्षण और सैंपल लेकर जैसी स्थिति होगी उसके अनुसार व्यक्ति का उपचार किया जायेगा। यदि किसी व्यक्ति के सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उस क्षेत्र की सर्वे टीम सक्रियता से कार्य करके संक्रमित व्यक्ति के परिवार और उससे जुड़े अन्य व्यक्तियों की सूची बनाकर होम कोरेन्टाईन करने के साथ ही अन्य कार्यों को प्राथमिकता से करेगी। सर्वे के दौरान प्रत्येक ग्राम पंचायत का एक रजिस्टर बनाया जायेगा तथा प्रत्येक रजिस्टर में स्क्रीनिंग किये गये 200 व्यक्तियों का विवरण दर्ज किया जायेगा । इस कार्य की राजस्व अनुविभागीय अधिकारी निरंतर मॉनिटरिंग करेंगे । उन्होंने बताया कि सभी राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों को सार्थक एप में लॉगिन के लिये पासवर्ड उपलब्ध कराये जायेंगे । उन्होंने निर्देश दिये कि इस कार्य को प्राथमिकता के साथ पहले करें और इसके बाद श्रमिकों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध कराने के साथ अन्य आवश्यक कार्यो को करें ।
      बैठक में कलेक्टर श्री सुमन ने निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में राहत और निर्माण कार्यो को शुरू कराये जिससे श्रमिकों को रोजगार मिल सकें । नंदन फलोद्यान के अंतर्गत 4 हजार पौधों का रोपण किया जाना है । इसके लिये दिये गये निर्धारित लक्ष्य के अनुसार जनपद पंचायत और उद्यानिकी विभाग के माध्यम से हितग्राहीमूलक प्रकरण तैयार कर पौधारोपण करायें तथा पौधारोपण के लिये बारिश के पूर्व गड्ढों की खुदाई करायें । शैलपर्ण योजना के अंतर्गत जनपद पंचायत को राजस्व व वन विभाग की भूमि की जानकारी उपलब्ध करायें जिससे इस योजना में भी पौधारोपण किया जा सके । बारिश के दौरान सी.सी.रोड, प्रधानमंत्री आवास आदि के कार्य करायें और इन निर्माण कार्यो में लगभग एक लाख के आस-पास मजदूरों को रोजगार उपलब्ध करायें । उन्होंने बताया कि जिले की 31 ग्राम पंचायतों में गौ-शाला स्थापित की जा रही है । इन गौ-शालाओं के माध्यम से आत्मा परियोजना के अंतर्गत ग्राम पंचायतों को कृषि के क्षेत्र में जैविक ग्राम के रूप में विकसित करें । संबल योजना के अंतर्गत श्रमिकों का पंजीयन कार्य शीघ्रता से करें और गोदाम स्तर पर 10 जून तक चना की खरीदी करें । उपार्जित फसलों का बारिश के पानी से बचाव करें ।
      कलेक्टर श्री सुमन ने बैठक में निर्देश दिये कि अविवादित नामांतरण व बंटवारा के लंबित प्रकरणों का शीघ्रता से निराकरण करें और बारिश के पूर्व सीमांकन के प्रकरणों का निराकरण करें । लोक सेवा गारंटी अधिनियम के अंतर्गत हितग्राहियों को लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से अविवादित नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन और अन्य सेवायें निर्धारित समय सीमा में उपलब्ध करायें । उन्होंने निर्देश दिये कि जिन तहसीलों में कम्प्यूटर ऑपरेटर और सहायक के पद रिक्त है, वहां प्रतीक्षा सूची के आवेदकों की नियुक्ति कर पदों की पूर्ति करें जिससे राजस्व और अन्य कार्य शीघ्रता से किये जा सके । उन्होंने संपदा से प्राप्त नामांतरण प्रकरण, पंचायत सचिव के लॉगिन में लंबित प्रकरण, रीडर/पीठासीन अधिकारी के लॉगिन पर लंबित प्रकरण, आर.सी.एम.एस. में आदेशार्थ नियत प्रकरण, वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत वनाधिकार पट्टों का प्रदाय, वन व्यवस्थापन कार्य, प्राकृतिक आपदा से राहत प्रकरण, भू-राजस्व एवं अन्य मदों की मांग व वसूली, भूमि व्यपवर्तन, भूमि बंधक, खसरा ईरर में सुधार, पी.एम.किसान सम्मान निधि, लैंड रेवेन्यू एकाउंटेंट सिस्टम, भूमि आवंटन, अधीनस्थ न्यायालयों का रोस्टर के अनुसार निरीक्षण, सी.एम.हेल्प लाईन, समय सीमा का उत्तरा पोर्टल, जनसुनवाई, अवैध उत्खनन, न्यायालय में जवाब-दावा का प्रस्तुतिकरण, भू-अर्जन, दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 107/116, 151, 145 के दांडिक प्रकरण और अन्य निर्धारित बिंदुओं की प्रगति की समीक्षा कर प्रकरणों का समय सीमा में निराकरण करने के निर्देश भी दिये ।

Post a Comment

Previous Post Next Post