Chhindwara News : छिंदवाड़ा कलेक्टर श्री सुमन ने ली समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक

Chhindwara News : छिंदवाड़ा कलेक्टर श्री सुमन ने ली समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक

Chhindwara News : छिंदवाड़ा कलेक्टर श्री सुमन ने ली समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक

Chhindwara News: Chhindwara Collector Mr. Suman


Chhindwara News

कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक संपन्न हुई । सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये यह बैठक दो समूहों में आयोजित की गई । बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेंद्र सिंह नागेश, अतिरिक्त कलेक्टर श्री राजेश बाथम, नगर निगम आयुक्त श्री राजेश शाही, एस.डी.एम. श्री अतुल सिंह सहित सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान सभी राजस्व अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और नगरीय निकायों के मुख्य नगरपालिका अधिकारी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक में शामिल हुये ।   

Chhindwara News - Chhindwara Collector

      कलेक्टर श्री सुमन ने लंबित पत्रों की समीक्षा के दौरान कहा कि अभी जिले में एक भी कोरोना वायरस के पॉजिटिव व्यक्ति नहीं है, फिर भी इस कोरोना वायरस से लंबी  लड़ाई चलेगी । वर्तमान में जांच के लिये प्रतिदिन सैंपल भेजे जा रहे हैं तथा कब किस व्यक्ति की कोरोना वायरस की पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त हो जाये, यह नहीं कहा जा सकता। लोगों की स्क्रीनिंग जारी है । इस बात को ध्यान में रखते हुये कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये चिन्हित किये गये अस्पतालों को अपडेट करना पहली प्राथमिकता है।  उन्होंने निर्देश दिये कि जहां-जहां अतिरिक्त बेड की आवश्यकता या मांग है, उसे रोगी कल्याण समिति व नगर निगम से समन्वय कर इस माह के अंत तक अपडेट करें ।  कलेक्टर श्री सुमन ने कहा कि लोकल लेवल पर मानक स्तर के पीपीई किट तैयार कराने की संभावनाओं का आकलन करें । यदि संभव हो तो पीपीई किट तैयार कराने के लिये महिला स्व-सहायता समूह को प्रशिक्षण प्रदाय कर ऐसे समूह तैयार करें । साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि इन तैयार पीपीई किट की क्वालिटी बेहतर हो । इस संबंध में अगर किसी जिले द्वारा पीपीई किट तैयार कराई जा रही हो तो नगर निगम आयुक्त उसकी क्वालिटी सुनिश्चित करें और इस दिशा में आगे कदम बढ़ायें । उन्होंने कहा कि अस्पताल में चिकित्सकीय उपकरणों की खरीदी में गुणवत्ता का विशेष ध्यान इस दृष्टिकोण से रखा जाये कि यदि भविष्य में भी कोई बड़ी बीमारी या फ्लू का संक्रमण फैलता है तो यह संसाधन उस समय भी काम में लिये जा सकें । इसी प्रकार इन उपकरणों को रिकॉर्ड में लिया जाकर इनका मेंटनेंस करना भी आवश्यक है । 
     

कलेक्टर श्री सुमन ने निर्देश दिये कि छिंदवाड़ा में कोरोना वायरस की टेस्टिंग के लिये लैब जैसे ही प्रारंभ होती है, उसका संचालन समुचित ढंग से किया जाना सुनिश्चित करें । जब तक लैब प्रारंभ नहीं होती, तब तक जबलपुर से ही समन्वय किया जाये । उन्होंने निर्देश दिये कि कोविड सेंटर या आश्रय स्थलों में ऐसे लोगों की ड्यूटी लगाई जाये, जो स्वस्थ हों और जिनकी इम्युनिटी अच्छी हो । सभी एस.डी.एम., तहसीलदार और बी.एम. ओ. यह सुनिश्चित करें कि इन कार्यो में अधिक उम्र के लोगों की ड्यूटी नहीं लगे। कलेक्टर श्री सुमन ने निर्देश दिये कि सीमावर्ती क्षेत्रों में चाहे वह अन्य राज्यों या अन्य जिलों से जुड़े हुये हों, में मजदूरों की आवाजाही को व्यवस्थित करें। उनका उपचार, भोजन, पानी आदि के साथ वाहन से पहुंचाने की व्यवस्था को देखें और प्रवासियों को समुचित रूप से भेजने का प्रबंध करें। इसकी प्रतिदिन की रिर्पोटिंग संयुक्त कलेक्टर को करें । इसके साथ ही अन्य लोगों के लिये सुनिश्चित की जा रही भोजन के पैकेट, पानी, बस आदि की व्यवस्था के संबंध में भी बेसिक डेटा संधारित करें । जिले में लौटने वाले व्यक्तियों की वार्डवार व ग्रामवार सूची तैयार रहना चाहिये । साथ ही होम क्वारंटाईन एवं संस्थागत क्वारेंटाईन किये गये व्यक्तियों की संपूर्ण जानकारी भी उपलब्ध होना चाहिये । उन्होंने निर्देश दिये कि इन सभी जानकारियों का एकजाई डाटा तैयार करें ।

      कलेक्टर श्री सुमन ने निर्देश दिये कि तहसीलदार व जनपद सी.ई.ओ. होम क्वारेंटाईन का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति पर निगरानी के लिये एक-एक व्यक्ति की नामजद ड्यूटी लगायें, जिससे वे होम क्वारेंटाईन का उल्लंघन ना कर सकें और अनावश्यक रूप से इधर-उधर नहीं घूमें । उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा आने के लिये जारी किये गये अनुमति पत्रों की जानकारी जनपद या वार्ड को यूनिट मानते हुये प्रदाय करें ताकि ऐसे व्यक्तियों को ट्रेस कर लिया जाये । उन्होंने इस संबंध में रेड जोन से आने वाले व्यक्तियों को सबसे पहले ट्रेस करने के निर्देश दिये । कलेक्टर श्री सुमन ने बताया कि छिंदवाड़ा अनुविभाग के अंतर्गत वर्तमान में एक हजार 900 व्यक्ति होम  क्वारेंटाईन में है और एक हजार 510 व्यक्तियों द्वारा होम क्वारेंटाईन पूर्ण कर लिया गया है।  बैठक में लंबित पत्रों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्री सुमन ने सीएम हेल्पलाइन में कोविड-19 से संबंधित सभी प्रकरणों का निराकरण तत्परता से करने के निर्देश दिये । साथ ही पेयजल भोजन, राहत आदि पर भी तत्परता से कार्य करने के लिये निर्देशित किया ।


उपार्जन केंद्रों पर लगातार नजर बनाए रखने के लिए निर्देश देते हुये कलेक्टर श्री सुमन ने कहा कि किसी भी केंद्र से शिकायत नहीं आना चाहिये । यदि किसी तरह की शिकायत प्राप्त होती है तो संबंधित नोडल अधिकारी की यह जवाबदारी होगी कि वह समस्या का तत्काल समाधान करायें । प्रत्येक उपार्जन केंद्र पर बारदाने की वास्तविक  स्थिति ऑनलाइन दिखनी चाहिए । उन्होंने सभी एसडीएम और तहसीलदारों को प्रत्येक उपार्जन केंद्र पर अपनी उपज विक्रय के लिये शेष रह गये किसानों तथा विक्रय के लिये  शेष रह गये अनाज की जानकारी रखने और इस कार्य के लिये अलग से एक व्यक्ति को दायित्व सौंपने के निर्देश दिये । उन्होंने कहा कि सभी संबंधित अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जिले में दूसरे जिलों या राज्यों का गेहूं विक्रय के लिये नहीं आना चाहिये। इसके लिये अंतरर्राज्यीय व अंतर जिला बॉर्डर के एसडीएम इस बात का विशेष ध्यान रखें। लंबित पत्रों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्री सुमन ने चिकित्सालय एवं निर्मल नीर आदि योजनाओं के भुगतान के संबंध में निर्देश दिये । इस दौरान उन्होंने आवासीय भूमि पट्टा, मरम्मत कार्य, अतिक्रमण, अनुकंपा नियुक्ति, वसीयतनामा के आधार पर उत्तराधिकारी का मामला मुख्यमंत्री स्वरोजगार, जाति प्रमाण पत्र, सुकन्या समृध्दि योजना, भूमि आवंटन, सेवानिवृत्ति, प्राकृतिक आपदा से फसल क्षति, मक्का विक्रय की भावांतर राशि, न्यायालयीन प्रकरणों की समय सीमा में जवाब दावे आदि के संबंध में भी चर्चा की। उन्होंने निर्देश दिये कि एक ऐसा प्रोजेक्ट तैयार करें जिसमें विद्यार्थियों को पढ़ने के लिये क्लास रूम, लाइब्रेरी की सुविधा के साथ ही फोटो कॉपी मशीन और ऑनलाइन जानकारी प्राप्त करने के लिये भी व्यवस्था हो । इसके साथ ही वहां ऐसा वातावरण निर्मित किया जाये जिसमें किसी भी विद्यार्थी को अध्ययन करने में किसी तरह की असुविधा नहीं हो । इच्छुक अधिकारी-कर्मचारी भी वहां पढ़ाने के लिये अपना अतिरिक्त समय दे सकते हैं जिसका लाभ विद्यार्थियों को मिलेगा ।

Post a Comment

Previous Post Next Post