सायबर अपराधियों का हथियार बन रहा है कोरोना , लॉकडाउन में अभी तक सायबर क्राइम के 13 केस सामने आए / Cyber Crime News

सायबर अपराधियों का हथियार बन रहा है  कोरोना , लॉकडाउन में अभी तक सायबर क्राइम के 13 केस  सामने आए / Cyber Crime News

सायबर अपराधियों का हथियार बन रहा है  कोरोना , लॉकडाउन में अभी तक सायबर क्राइम के 13 केस सामने / Cyber Crime News

Cyber Crime News

भोपाल ( Bhopal News )  । नगर निगम की फायरब्रिगेड शाखा में कार्यरत रफीउद्दीन उस वक्त सकते में आ गए, जब लोगों ने फोन पर उनके दोस्त की खैरियत पूछना शुरू कर दी। रफीउद्दीन ने जब वस्तुस्थिति पता की तो पता चला कि उनकी फेसबुक आईडी हैक कर उनके नाम से कोई वसूली कर रहा है। कहा जा रहा है कि उनके दोस्त का बेटा संक्रमित हो गया है। उसे पैसों की जरूरत है। उन्होंने मामले की शिकायत क्राइम ब्रांच की सायबर विंग में की है। दरअसल, कोरोना अब सायबर अपराधियों का हथियार बन रह रहा है। इस वायरस का संक्रमण रोकने के लिए देश में लॉकडाउन है। मेल जोल से बचने के लिए अधिकतर लोग ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं।
इस बात का फायदा उठाते हुए सायबर अपराधी भी सक्रिय हो गए हैं। अब वह कोरोना की आड़ लेकर भावनात्मक अपील करते हुए भी लोगों से रुपए ऐंठ रहे हैं। इसके लिए वह लोगों की फेसबुक आईडी हैक कर संबंधित व्यक्ति के नाम से उसके दोस्तों से रुपए वसूल रहे हैं। लॉकडाउन में अभी तक इस तरह के 13 केस सामने आ चुके हैं।

सतर्क हो जाएं - Cyber 


क्राइम ब्रांच की सायबर विंग के एएसपी संदेश जैन ने बताया कि लॉकडाउन के कारण लोग ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसको देखते हुए सायबर अपराधी फोन पर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। अपराधी फोन करके यह साबित करने की कोशिश करता है कि वह उनका पुराना परिचित है। झांसे में फंसते ही वह रुपए भेजने की बात कहते हुए अकाउंट संबंधित जानकारी हासिल कर लेता है। इसके बाद कुछ ही मिनट में संबंधित व्यक्ति के खाते से रकम अलग-अलग अकाउंट में ट्रांसफर कर उड़ा ली जाती है। एएसपी बताते हैं कि लॉकडाउन में अभी तक इस तरह के 13 केस सामने आ चुके हैं।





Post a Comment

Previous Post Next Post